माँ के साथ अनोखा मज़ा 1

0
Loading...

प्रेषक : राजा

हेल्लो दोस्तों मेरी उम्र 21 साल की है और मेरी प्यारी माँ 43 साल की है। घर पर मेरी माँ और में रहता हूँ। मेरी माँ एकदम सेक्सी है। उनकी बहुत मद मस्त जवानी है। उसके कूल्हे बहुत अच्छे लगते हैं। मैंने एक बार जब वो सोई हुई थी तो तब उसके कमरे में जाकर उसकी गांड देखी थी और बड़ा उत्तेजित हुआ था। मुझे उनकी गांड चाटने का बहुत मन होता था। लेकिन मौका नहीं मिलता था और भी हिम्मत नहीं होती थी। लेकिन एक दिन मौका भी मिला मुझे।

मेरी माँ भी मेरे खड़े हुए लंड को बार बार देखती थी। मैं सोने की एक्टिंग करता था और वो मेरे पास सो कर मेरे पीछे से मेरे लंड को पकड़ कर सहलाती थी और मैं आँखे बंद करके बहुत मज़ा लेता था। माँ अपनी छाती को मेरे हाथो से दबवाती थी और एक बार तो मेरा लंड चूस भी लिया था। में भी एक्टिंग करता था और माँ की गांड को मसलता रहता था।

एक बार मैंने बाथरूम खोला तो देखा की माँ आधी नंगी बैठ कर कपड़े धो रही थी और उसकी गांड का छेद साफ दिख रहा था। मैं चुपके से पीछे बैठ गया और माँ के गले लग गया। मेरा लंड खड़ा हो गया था पीछे से माँ के बदन को छू रहा था और माँ को अच्छा लग रहा था। मैंने धीरे से अपने हाथ माँ के कूल्हों पर रख दिया और उसे मसलने लगा। माँ तो अपने काम में मस्त थी और मजा ले रही थी।

कूल्हों को मसलते मसलते मेरी नज़र माँ के सिकुड़ते फैलते हुए गांड के छेद पर गई मेरे मन मैं आया की क्यों ना इसका स्वाद भी चखा जाए देखने से तो माँ की गांड वैसे भी काफ़ी खूबसूरत लग रही थी। जैसे गुलाब का फूल हो मैंने अपनी लपलपाती हुई जीभ को उसकी गांड के छेद पर लगा दी और धीरे-धीरे ऊपर ही ऊपर लपलपाते हुए चाटने लगा। गांड पर मेरी जीभ का स्पर्श पा कर माँ पूरी तरह से हिल उठी।

“ओह ये क्या कर रहा है ओह बहुत अच्छा लग रहा है, ये सब कहाँ से सीखा, तू तो बड़ा कलाकार है। हे राम देखो कैसे मेरी चूत को चाटने के बाद मेरी गांड को चाट रहा है। तुझे मेरी गांड इतनी अच्छी लग रही है, कि इसको भी चाट रहा है, ओह बेटा सच में गजब का मज़ा आ रहा है। चाट चाट ले अब पूरी गांड को चाट ले ओह ओह।

मैंने पूरी लगन के साथ गांड के छेद पर अपनी जीभ को लगा कर दोनो हाथो से दोनो कुल्हो को पकड़ कर छेद को फैलाया और अपनी नुकीली जीभ को उसमे डालने की कोशिश करने लगा। माँ को मेरे इस काम में बड़ी मस्ती आ रही थी और उसने खुद अपने हाथो को अपने कुल्हो पर ले जा कर गांड के छेद को फैला दियाऔर मुझे जीभ डालने के लिए उत्साहित करने लगी। ईईईईई डाल दे जीभ को जैसे मेरी चूत में डाला था वैसे ही गांड के छेद में भी डाल दे और चोद के खूब चाट मेरी गांड को मर गई रीईईई, ओह इतना मज़ा तो कभी नहीं आया था। ओह देखो कैसे गांड चोद रहा है,,,,,,,,सस्स्स्स्स्सीईई चाटो इसे चाटो और ज़ोर से चाटो।

मैं पूरी लगन से गांड चाट रहा था। मैंने देखा की चूत का गुलाबी छेद अपने रस को टपका रहा है, तो मैंने अपने होंठो को फिर से चूत के गुलाबी छेद पर लगा दिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा जैसे की कोकोकोला पी रहा हूँ। सारे रस को चूसने के बाद मैंने चूत के छेद में जीभ को डाल कर अपने होंठो के बीच में चूत के छेद को क़ैद कर लिया और खूब ज़ोर ज़ोर से चूसना शुरू कर दिया।

माँ के लिए अब बर्दाश्त करना शायद मुश्किल हो रहा था। उसने मेरे सिर को अपनी चूत से अलग करते हुए कहा फिर से चूस कर ही झाड़ देगा क्या? अब तो असली मज़ा लूटने का समय आ गया है। बेटा राजा अब चल मैं तुझे जन्नत की सैर कराती हूँ। अब अपनी माँ की चुदाई करने का मज़ा लूट मेरे राजा चल मुझे नीचे उतरने दे साले।

मैंने माँ की चूत पर से मुँह हटा लिया वो जल्दी से नीचे उतर कर लेट गई और अपने पैरो को घुटनो के पास से मोड़ कर अपनी दोनो जाँघो को फैला दिया और अपने दोनो हाथो को अपनी चूत के पास ले जा कर बोली “आ जा राजा जल्दी कर अब नहीं रहा जाता। जल्दी से अपने मूसल को मेरी ओखली में डाल कर कूट दे जल्दी कर बेटा डाल दे अपना लंड माँ की प्यासी चूत में, मैं उसके दोनो जाँघो के बीच में आ गया पर मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करू। फिर भी मैंने अपने खड़े लंड को पकड़ा और माँ के ऊपर झुकते हुए उसकी चूत से अपने लंड को सटा दिया।

माँ ने लंड को चूत से सटाते ही कहा “हाँ अब मार धक्का और घुसा दे। अपने सांप जैसे लंड को माँ के बिल में। मैंने धक्का मार दिया पर ये क्या लंड तो फिसल कर चूत के बाहर ही रगड़ खा रहा था। मैंने दोबारा कोशिश की फिर वही नतीज़ा तीन धक्के मारे फिर लंड फिसल कर बाहर इस पर माँ ने कहा “रुक जा मेरे नासमझ खिलाड़ी, मुझे ध्यान रखना चाहिए था, तू तो पहली बार चुदाई कर रहा है, अभी तुझे मैं बताती हूँ, फिर अपने दोनो हाथो को चूत पर ले जाकर चूत के दोनो फांको को फैला दिया और चूत के अंदर का गुलाबी छेद नज़र आने लगा था। चूत एक दम पानी से भीगी हुई लग रही थी। चूत छोड़ी करके माँ बोली ले मैंने तेरे लिए अपनी चूत को फैला दिया है, अब आराम से अपने लंड को ठीक निशाने पर लगा कर चोद ले जितना चाहे उतना चोद।

मैंने अपने लंड को ठीक चूत के खुले हुए मुँह पर लगाया और धक्का मारा लंड थोड़ा सा अंदर तो घुसा पानी लगे होने के कारण लंड का मुहं अंदर चला गया था। माँ ने कहा “शाबाश ऐसे ही मुहं चला गया अब पूरा घुसा दे मार धक्का कस के और चोद डाल मेरी चूत को बहुत खुजली मची हुई है। मैंने अपनी गांड तक का ज़ोर लगा कर धक्का मार दिया, पर मेरा लंड में ओर दर्द की लहर उठी और मैंने चीखते हुए झट से लंड को बाहर निकाल लिया। माँ ने पूछा क्या हुआ चिल्लाता क्यों है।

ओह माँ लंड में बहुत दर्द हो रहा है। माँ उठ कर बैठ गई और मेरी तरफ देखते हुई बोली देखूं तो कहा दर्द है। मैंने लंड दिखाते हुए कहा देखो ना जैसे ही चूत में घुसाया था, वैसे ही दर्द करने लगा माँ कुछ देर तक देखती रही फिर हंसने लगी और बोली साले अनाड़ी चुदक्कड़, चला है माँ को चोदने, अभी तक तो तेरे लंड की चमड़ी ढंग से उतरी ही नहीं है, तो दर्द नहीं होगा तो और क्या होगा, चल कोई बात नहीं मुझे इस बात का ध्यान रखना चाहिए था, मेरी ग़लती है मैंने सोचा तूने खूब मूठ मारी होगी तो चमड़ी अपने आप उतरने लगी होगी, मगर तेरे इस गुलाबी सुपाड़े की शक्ल देख कर ही मुझे समझ जाना चाहिए था, कि तूने तो अभी तक ढंग से मूठ भी नहीं मारी, चल नीचे लेट, लगता है अब मुझे ही कुछ करना पड़ेगा।

Loading...

मैंने तो अब तक यही सुना था की लड़का लडकी के ऊपर चड़ कर चोदता है। मगर जब माँ ने मुझे नीचे लेटने के लिए कहा तो मैं सोच में पड़ गया और माँ से पूछा नीचे क्यों लेटना है, माँ  क्या अब चुदाई नहीं होगी। मुझे लग रहा था कि माँ फिर से मेरा मुठ मार देगी। माँ ने हँसते हुए कहा नहीं अनाड़ी चुदाई तो होगी, जितनी तुझे चोदने की आग लगी है मुझे भी चुदवाने की उतनी ही आग लगी है, चुदाई तो होगी ही, तुझे तो अभी रात भर मेरी चूत का बाजा बजाना है, मेरे राजा तू नीचे लेट अब उल्टी तरफ से चुदाई होगी। उल्टी तरफ से चुदाई होगी इसका क्या मतलब है। माँ बोली इसका मतलब तुझे लिटाके में खुद ही तेरे लंड से चुदवाउंगी, ये तो तू खुद ही थोड़ी देर के बाद देख लेना मगर फिलहाल तू नीचे लेट और अपना लंड खड़ा कर के रख फिर देख मैं कैसे तुझे मज़ा देती हूँ।

मैं नीचे लेट तो गया पर अब भी मैं सोच रहा था, कि माँ कैसे करेगी माँ ने जब मेरे चेहरे पर हिचकिचाहट के भाव देखे तो वो मेरे गाल पर एक प्यार भरा तमाँचा लगते हुए बोली सोच क्या रहा है, तू अभी चुपचाप तमाशा देख फिर बताना की कैसा मज़ा आता है, कह कर माँ ने मेरे कमर के दोनो तरफ अपनी दोनो टाँगे कर दी और अपनी चूत को ठीक मेरे लंड के सामने ला कर मेरे लंड को एक हाथ से पकड़ा और लंड को सीधा अपनी चूत के गुलाबी मुँह पर लगा दिया।

लंड को चूत के गुलाबी मुँह पर लगा कर वो मेरे लंड को अपने हाथो से आगे पीछे कर के अपनी चूत की दरार पर रगड़ने लगी। उसकी चूत से निकला हुआ पानी मेरे लंड पर लग रहा था और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, मेरी साँसे उस अगले पल के इंतज़ार में रुकी हुई थी जब मेरा लंड उसकी चूत में घुसता।

मैं बहुत देर से इंतज़ार कर रहा था। तभी माँ ने अपनी चूत की फाँक को एक हाथ से फैलाया और मेरे लंड के मुहं को सीधा चूत के गुलाबी मुँह पर लगा कर उपर से हल्का सा ज़ोर लगाया। मेरे लंड का मुहं उसके चूत की फांको के बीच में समा गया। फिर माँ ने मेरी गांड पर अपने हाथो को जमाया और ऊपर से एक हल्का सा धक्का दिया मेरे लंड का थोड़ा सा और भाग उसकी चूत में समा गया था। उसके बाद माँ स्थिर हो गई और इतने से ही लंड को अपनी चूत में घुसा कर आगे पीछे करने लगी। थोरी देर तक ऐसा करने के बाद उसने फिर से एक धक्का मारा। इस बार धक्का थोड़ा ज्यादा ही जोरदार था और मेरे लंड का लगभग आधा से अधिक भाग उसकी चूत में समा गया। मेरे मुँह से एक ज़ोरदार चीख निकल गई।

क्योकि मेरे लंड के मुहं की चमड़ी एक दम से पीछे उलट गई थी। पर माँ ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया और उतने ही जोर से लंड को आगे पीछे करते हुए धक्का मारते हुए बोली, बेटा चुदाई कोई आसान काम नहीं है, लड़की भी जब पहली बार चुदती है, तो उसको भी दर्द होता है और उसका दर्द तो तेरे दर्द के सामने कुछ भी नहीं है, जैसे उसकी चूत की सील टूटती है, वैसे ही तेरे लंड की भी आज सील टूटी है। थोड़ी देर तक आराम से लेटा रह फिर देख तुझे कैसा मज़ा आता है।

माँ अब उतने लंड को ही चूत में ले कर धीरे धीरे धक्के लगा रही थी। वो अपनी गांड को उछाल उछाल के धक्के पर धक्का मारे जा रही थी। थोड़ी देर में ही मेरा दर्द कम हो गया और मुझे गीलेपन का अहसास होने लगा था, माँ की चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था और उसकी चूत से निकलते पानी के कारण मेरे लंड का घुसना और निकलना भी आसान हो गया था, माँ अब और ज़ोर ज़ोर से अपनी गांड उछाल उछाल के धक्के लगा रही थी और मेरे वीर्य का ज्यादा से ज्यादा भाग उसकी चूत के अंदर घुसता जा रहा था।

माँ ने इस बार एक ज़ोरदार धक्का मारा और मेरे लंड का ज्यादातर भाग अपनी चूत में छुपा लिया और सिसकते हुए बोली ईईईइ दैयया, कितना तगड़ा लंड है, जैसे कि गरम लोहा हो एक दम सीधा चूत की दीवारो को रगड़ मार रहा है, मेरे जैसी चुदी हुई औरत की चूत में जब ये इतना कसा हुआ है। तो जवान लड़कियों की चूत तो फाड़ के रख देगा, मज़ा आ गया, ले साले और घुसा लंड और घुसा” कह कर तेज़ी से तीन चार धक्के और मार दिए।

माँ ने तेज़ी से लगाए गये इन धक्को से मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत के अंदर चला गया। माँ ने सिसकते हुए धक्के लगाना जारी रखा और अपने एक हाथ को चूत के मुहं के पास ले जाकर देखने लगी की पूरा लंड अंदर गया है की नहीं। जब उसने देखा की पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में घुस चुका है। तब उसने अपनी गांड को उठाते हुए एक तेज धक्का मारा और मेरे हाथो का चुम्मा ले कर बोली कैसा लग रहा है। बेटा अब तो दर्द नहीं हो रहा है ना।

नहीं माँ अब दर्द नहीं हो रहा है, देखो ना मेरा पूरा लंड तुम्हारी चूत के अंदर चला गया है। हाँ बेटा अब दर्द नहीं होगा अब तो बस मज़ा ही मज़ा है। मेरी चूत के पानी के गीलेपन से तेरी चमड़ी उलटने में अब आसानी हो रही है। इसलिए तुझे अब दर्द नहीं हो रहा होगा बल्कि मज़ा आ रहा होगा। क्यों बेटा बोल ना मज़ा आ रहा है या नहीं, अपनी माँ की चूत में को चोदकर। अब तो तुझे पता चल रहा होगा की चुदाई क्या होती है, बेटा ले मज़े चुदाई का और बता कि तुझे कैसा लग रहा है, माँ की चूत में लंड घुसाने में। माँ सच में गजब का मज़ा आ रहा है, ओह माँ तुम्हारी चूत कितनी कसी हुई है। मेरा लंड तो इसमे बड़ी मुश्किल से घुसा है, जबकि मैंने सुना था की शादीशुदा औरतो की चूत ढीली हो जाती है।

माँ बोली “बेटा ये तेरी माँ की चूत है, ये ढीली होने वाली चूत नहीं है, कहकर माँ ने लंड को पूरा खींच कर बाहर निकाला और फिर ऊपर से गांड का ज़ोर लगा के एक ज़ोरदार धक्का मारा कि पूरा लंड एक ही बार में गप्प से अपनी चूत के अंदर चला गया। माँ अब तेज तेज धक्के लगा के पूरा का पूरा लंड अपनी चूत में एक ही बार में गप्प गप्प से लेती रही थी।

उसने मेरा उत्साह बड़ाते हुए कहा अबे साले नीचे क्या औरतो की तरह से पड़े रह कर चुदवा रहा है, अपनी गांड उछाल उछाल के तू भी धक्का मार साले चोद अपनी माँ को ऐसे पड़े रहने से थोड़े ही मज़ा आएगा, देख मेरी चूत कैसे तेरे सारे वीर्य को एक ही बार में निगल रही है, तेरा लंड मेरी चूत की दीवारो को कुचलता हुआ कैसे मेरी चूत के लास्ट तक ठोकर मार रहा है और तू भी नीचे से धक्का मार मेरे राजा और बता की कैसा लग रहा है, माँ की चुदाई करने में मज़ा आ रहा है या नहीं।

मैंने भी नीचे से गांड उछाल कर धक्का मारना शुरू कर दिया और माँ के कुल्हो को अपनी हथेलियों के बीच दबोच कर बोला, माँ बहुत मज़ा आ रहा है, सच में इतना मज़ा तो जिंदगी में कभी नहीं आया। ओह तुम्हारी चूत में मेरा लंड एकदम धीरे धीरे जा रहा है और ऐसा लगता है जैसे कि मैंने किसी गरम भट्टी में अपने लंड को डाल दिया है। ओह सस्सस्सस्सीईईईई कितना गरम है तेरी चूत माँ और ज़ोर से मरो धक्का और ले लो अपने बेटे का लंड अपनी चूत में ऊऊओह साली मज़ा आ गया कह कर मैंने अपनी एक उंगली को माँ की गांड की दरार पर लगा कर उसको हल्का सा उसकी गांड में डाल दिया।

माँ का जोश मेरी इस हरकत पर दुगुना हो गया और वो अपनी कुल्हो को और तेज़ी के साथ उछालने लगी और कहने लगी गांड में उंगली डालता है। तेरी माँ को चोद और ले मेरा चूत का धक्का तेरे लंड पर दूँगी मुँह क्या देख रहा है, चूची दबा साले मुँह में लेकर चूस और चुदाई का मज़ा ले। मुझे कितने वर्षो के बाद ऐसी चुदाई का आनंद मिल रहा है ।।

Loading...

दोस्तों आगे की कहानी अगले भाग में …

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


चिकनी मोटी की चूत चुदाई ऐसे की रोने लगी video hdपीरियड सेक्स कहानियांhindi adult story in hindim a ke kahane par maushi ki mote land se moti gand ki chudai ki kahaniyaरिंकी की च**** की सेक्सी कहानी हिंदी डॉट कॉमbadi didi ko milk me behoshe gole dekar chodaaabida ki chudai kahani hindiबालकनी मे मम्मी की चुदाई रोने लगीवो लङकी मेरे को ऊपर चलने का ईशारा किया nanad ne ladke ne kambal m nega kar diyaSamdhan ko choda sex storiesनोकरी के चकर मे चुत फडबाईबहन को आराम से चोद सकते है ननद भाभी को चोदाadlt.khani.randi.bidhwa.mami.ki.choda jabrdasti 8.5 inch land se hindi storyपति की जान बचाने की कीमत में चूत का भोसड़ा बनवायामम्मी का थूक पिया पसीना चाटा सेक्स स्टोरीaudio sax fiimle setoryDupahar me sone ke bahane bubs daba diya chupke se videotrenme vidva mosi ki sex story hindi me choti bhen payel ko codha hindi sex khanihindi sexcy storiesनई सेक्स कहानी बहन भाई का एक ही बेड पर सोते समय चोदाsax.khani.mota.landसुमन की हिंदी कहानियां सेक्सी कहानियांदीदी की चुदाई की मैंनेमाँ को माँ बनाया सेक्स कहानीमाँ को माँ बनाया सेक्स कहानीsabita.ke.sath.saughratadlt.khani.randi.bhan.ki.माँ के लोडे आ गया तू चोदने बॉस स्टोरी इन हिंदीRandi ma ki gand ke bde shade ko dekhkar hairaan ho gya hindi sex storycoching me chudai ki kahaniyaKAM BALI KAMRE ME AYI PHIR LADKE NE KAPDE UTARE PHIR CHODA PORNहिन्दी सेक्स कहानी भाभीNafisha ki chudai kahaniA सेकस सटोरी बहन बुआमजा आने लगा कि वह बहुत ज़ोर से अपने चूतड़ों को उछालमां को छत पर चोदा एकांत मेंसभी टीचर ने मिलकर हमे चोदाwww hindi sexi story मेरी मम्मी रेशमा सेक्स स्टोरीsexy kahania in hindibhosada bhosade sxeहरामी चाचा hindi sex storyhindi sex khaniyaमम्मी को उनकी सहेली ने रंडी बनाया चुदाई कहानीरंडी माँ2dophar sex khania hindiभाभी साबुन, लगती, लंडचुदाई का मजाdost ki chudakkad bahencudai रात को chutमा की chudaai देखी कहानीstore hindi sexबहनचोद कमीने चोद मुझेहिंदी पुदाई कहानी ऑडिओतुम को बराबर चोदना नहीं आता बराबर चोदो हिंदी चुडाईबीवी बोले शोहर को बडा लंड दिलवादेNawalik.ki.chudai.hindi.kahanisexystorisehindi sexy storyhindi font sex kahaniबुआ ने मुझे चोदाmammyko boshne sadime chodahindi sexy stprysexestorehindiनई लेटेस्ट गन्दी हिंदी माँ बेटा सेक्स राज शर्मा मस्तराम कॉमतभी मैंने देखा कि मेरी बहन की उस कुंवारी छोटी आकार की चूत पर काले रंग के आकार में छोटे बहुत सारे बाल थे सेकसी कहनीया